पाकिस्तान के महान गेंदबाज जिन्होंने सर्वप्रथम सचिन तेंदुलकर को प्रतिभा को जाना था।

Spread the love

पाकिस्तान के महान गेंदबाज जिन्होंने सर्वप्रथम सचिन तेंदुलकर को प्रतिभा को जाना था। वह गेंदबाज थे पाकिस्तान के महान लेग स्पिनर अब्दुल कादिर।

सचिन तेंदुलकर भारतीय क्रिकेट का एक अनमोल हीरा है, लेकिन असली हीरे की पहचान जोहरी ही कर सकता है। सचिन तेंदुलकर के प्रतिभा को सर्वप्रथम पाकिस्तान के महान लेग स्पिनर अब्दुल कादिर ने पहचानी थी।
बात सन 1989 जब सचिन तेंदुलकर क्रिकेट में नये थे। पाकिस्तान में एक प्रदर्शनी सामना आयोजन किया गया था यह सामना पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था बारिश के कारण यह सामना 30-30 ओवर का हुआ था।
भारत की ओर से के श्रीकांत और सचिन तेंदुलकर बैटिंग कर रहे थे और बॉलिंग पर थे उस समय के पाकिस्तान के महान लेग स्पिनर अब्दुल कादिर। अब्दुल कादिर ने पहला ओवर के श्रीकांत को मेडन डाला। कादिर के अगले ओवर में जब सचिन तेंदुलकर बैटिंग को आए तब सचिन की उम्र मात्र 16 साल की थी और वह कादिर के सामने एक बच्चे जैसे लग रहे थे। तब अब्दुल कादिर ने बोला कि यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच नहीं है तुम खुलकर खेलो और मेरे बॉल पर छक्का मारकर दिखाओ तो तुम स्टार बन जाओगे। अब्दुल कादिर के ओवर में सचिन तेंदुलकर ने कुल 28 रन जोड़ दिए उसमें 4 छक्के और एक चौका शामिल था। कादिर की इस ओवर में सचिन ने 6,4,0,6,6,6 इस प्रकार रन जोड़े थे। दूसरे छोर के बोलिंग कर रहे मुस्ताक अहमद के गेंद पर भी सचिन तेंदुलकर ने चार छक्के जड़ दिए। इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने मात्र 18 गेंदों पर 53 रन की पारी खेली थी। तब अब्दुल कादिर ने उन्हें कहा था कि तुम स्टार बनोगे यह बात खुद अब्दुल कादिर ने एक भारतीय न्यूज़ चैनल के इंटरव्यू में बताया था। आगे चलकर सचिन तेंदुलकर क्रिकेट जगत के वह महान बल्लेबाज बने।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *